The idol of Tungnath ji, at Makku Math Temple - The winter seat of Tungnath ji.

दो माह बाद गददीस्थल मक्कूमठ पहुंचे तुंगनाथ.

तृतीय केदार भगवान तुंगनाथ करीब दो माह की देवारा यात्रा के बाद अपने शीतकालीन गद्दी स्थल मक्कूमठ पहुंचे। गांव पहुंचने पर ग्रामीणों ने तुंगनाथ व देवरा यात्रा का भव्य स्वागत किया और तुंगनाथ ने ग्रामीणों को आशीर्वाद दिया। इसके बाद भगवान तुंगनाथ की भोगमूर्ति को भंडार गृह में विराजमान किया गया। इसी के साथ दूसरे चरण की देवरा यात्रा का समापन हुआ।

शनिवार को भींगी गांव में पुजारी एवं वेदपाठियों ने वैदिक मंत्रोच्चारण के साथ विशेष पूजा कर भगवान तुंगनाथ का रुद्राभिषेक कर भोग लगाया। ग्रामीणों ने भगवान तुंगनाथ के दर्शन कर परिवार की सुख समृद्धि का आशीर्वाद लिया। देवरा यात्रा ने गांव का भ्रमण की भक्तों की कुशलक्षेम भी पूछी। इसके बाद डोली ने अपने शीतकालीन गददीस्थल मक्कूमठ के लिए प्रस्थान किया। दोपहर 2 बजे जैसे ही भगवान की देवरा यात्रा 64 दिनों बाद अपने शीतकालीन गददीस्थल मक्कूमठ पहुंची, तो ग्रामीणों ने फूलों व अक्षतों से यात्रा का स्वागत किया। मंदिर की परिक्रमा करने के बाद डोली सभामंडप में विराजमान हुई। डोली ने सबको आशीर्वाद दिया और इसके बाद भगवान की भोगमूर्ति को भंडार गृह में विराजमान किया गया। अब यहीं पर भगवान की नित्य पूजा अर्चना होगी। दो माह की यात्रा के दौरान तुंगनाथ ने 60 से अधिक गांवों का भ्रमण कर भक्तों की कुशमक्षेम पूछी।

देवरा यात्रा प्रभारी युद्धवीर पुष्पाण ने बताया कि भगवान तुंगनाथ की दूसरे चरण की देवरा यात्रा का समापन हो गया है। अब 2021 में मक्कूमठ में महायज्ञ का आयोजन होगा, जिसके लिए अभी तिथि की घोषणा नहीं हुई है। इस अवसर पर मठापति राम प्रसाद मैठाणी, प्रबंधक प्रकाश पुरोहित, यात्रा प्रभारी युद्धवीर पुष्वाण, भूपेंद्र मैठाणी, प्रियधर मैठाणी, प्रधान विजयपाल नेगी, सुरेंद्र मैठाणी, सतीश मैठाणी समेत बड़ी संख्या में ग्रामीण मौजूद थे।
माता अनसूया ने भक्तों की पूछी कुशलक्षेम
चमोली। संतानदायिनी माता अनसूया की दिवारा यात्रा शनिवार को भक्तों के साथ रात्रि प्रवास के लिए रांगतोली गांव पहुंची। भारी बारिश के बीच माता अनसूया ने घर-घर जाकर भक्तों की कुशलक्षेम पूछी। शनिवार को डोली ने हरमनी गांव में भक्तों को दर्शन दिए। माता के दर्शनों को गांव-गांव से ध्याणियां भी पहुंच रही हैं। वहीं, मंडल घाटी में मई माह में होने वाले माता के महायज्ञ को लेकर तैयारियां भी शुरू हो गई हैं। इस मौके पर क्षेत्र पंचायत सदस्य राहुल रावत, नवीन, सतेंद्र, अमित, राहुल, प्रवीन सेमवाल, संतोष सेमवाल, कुंवर सिंह नेगी, युमंद अध्यक्ष प्रदीप बिष्ट, विनोद बिष्ट, दिलबर बिष्ट, राहुल बिष्ट आदि मौजूद थे।

  • Also know about that festive day, on which announcement takes place for opening the kapat of Tungnath.

यह भी जानिए कब भगवान तुंगनाथ के कपाट खुलेंगे और कब बंद होंगे कौन सी तिथि और पर्व को होती है इसकी घोषणा ? और कौन करता है इसका निर्धारण ?

Other News of Chopta